Thursday, December 18, 2008

बाक्सिंग ? ये क्या होता है ? क्या ? गेम है ये ? गेम का मतलब तो क्रिकेट होता है न जी ..

बाक्सिंग ? ये क्या होता है ? क्या ? गेम है ये ? गेम का मतलब तो क्रिकेट होता है जी ...
क्या ये भी गेम है ?अच्छा होगा मुझे क्या ? पर मुझे क्यूँ बता रहे हो ये सब ?
अच्छा अच्छा तुम ये गेम खेलते हो क्या ?क्या कहा तुम बॉक्सर हो ? अच्छा अच्छा जैसे क्रिकेटर वैसे बॉक्सर ..
क्या कहा अभी अभी वर्ल्ड चैंपियनशिप मैं पदक जीत कर आए हो ? लेकिन न्यूज़ में तो कुछ नही देखा मैंने ..तुम झूठ बोल रहे हो ..ऐसा हो सकता है क्या , वर्ल्ड बाक्सिंग चैंपियनशिप जीत कर आओ और तुम्हारा स्वागत हो ?

यही हुआ है .ऊपर की लाइंस मेरे अन्तर मन के बातें है ...अब जरा हमारे बाक्सिंग चैंपियंस जो की वर्ल्ड बाक्सिंग चैंपियनशिप से पदक ले कर आए हैं , की हालत देखिये ...कहीं चर्चा नही है, अरे जनता की छोडिये बाक्सिंग फेडरेशन ऑफ़ इंडिया तक को उनकी सुध - बुध नही है . एअरपोर्ट पर उनके स्वागत करने के लिए कोई नही था... वो तो भला हो उन टैक्सी वालो का जिनलोगों ने उन्हें घर तक छोडा...हाँ जी बोक्सिंग असोसिएशन ने एक कार तक नही भेजा उनके लिए .

हमारे देश में क्रिकेट को छोड़कर और गेम का कमोबेश यही हाल है ...पदक जीतने के बाद भी उतना सम्मान नही मिलता है ..कोई पूछता तक भी नही है ...कोई न्यूज़ तक नही बनता ...नही नही ये न्यूज़ जरुर बनता है की उनका सम्मान होना चाहिए ..ऐसे में हम ओल्य्मपिक में पदक जीतने का
हम सपना देखते है , वाह रे हम ....जब कोई सम्मान मिले शाबाशी मिले तो कोई क्यूँ खेले ये गेम ...पैसे की तो मैं चर्चा तक नही कर रहा ....मज़े की बात तोये है की यही मीडिया, यही लोग जम के फटकार लगाते है जब हम ओल्य्मपिक में कोई पदक नही जीत पाते है.....

यार अगर थोडी से शाबाशी दे दोगे तो कोई क्यूँ नही खेलेगा ...हमारे देश में प्रतिभाओं की कमी नही है...
चलिए कम से कम आप उन्हें शाबाशी दे दीजिये ...

5 comments:

Pt.डी.के.शर्मा"वत्स" said...

भाई अमित, अगर सच बताऊं तो मै यह टिप्पणी आपकी पोस्ट को पढे बिना ही कर रहा हूं, क्योंकि लेख तो बिल्कुल भी पढा नहीं जा रहा.
लिखते समय आप html संपादित कर लिया करें तो ठीक से नजर भी आएगा.
बहरहाल आपकी पिछली पोस्ट बहुत बढिया एवं मजेदार लगी. तुम्हारी प्रार्थना में दम था.

Amit said...

sujaauh ke liye dhanywaad....naya naya hun blog jagat main...jayada jaankaari nahi hai....thik karne ke kosis karta hun....

aise he hame sujaauh dete rahe...

Amit said...

watas jee aapko phadne main dikkat hui iskey liye hame khed hai....
hamne kuch had tak thik kiya hai uske visibility ko....

kosis karunga aage se aisa na ho....
dhanyawaad....

sandhyagupta said...

Sach kaha aapne.Bharat me khel ka matlab keval cricket hi hai.

विनीता यशस्वी said...

sahi baat....

Bahrat mai

khel yani cricket